fbpx

Environment Handwritten Notes In Hindi | पर्यावरण के शानदार नोट्स

0

Environment Handwritten Notes For All Competitive Exams

 

Environment And Ecology Handwritten Notes

हेलो दोस्तों, मकरसकतरानति की आप सभी कि और ढेरों सुभकामनाये, आज फिर से हम Environment Handwritten Notes in Hindi , Environment Handwritten Notes For UPSC In Hindi, Best Environment Handwritten Notes In Hindi में काफी अधिक मेहनत करके आप सभी के लिए बनाये है। पर्यावरण एक बहुत ही महत्वपूर्ण सब्जेक्ट है और इस विषय की बहुत ही ज्यादा इम्पोर्टेंस है हमारे लिए और पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए Environment Studies Handwritten Notes In Hindi, environment handwritten notes for upsc , Environment Handwritten Notes In Hindi For UPSC पर्यावरण से जुड़े कुछ प्रश्न हर बार एक्साम्स में पूछे जाते रहे है जिसके कुछ अंक निर्धारित किये हुए होते है। और अगर आप इन सभी निर्धारित किये हुए अंको को अर्जित कर लेते हो तो आपकी कुछ मदद तो हो ही जाएगी एक्साम्स को Creak करने में। अतः आप इस विषय का भी अच्छे से अध्यन्न कर लेवे ।

हिन्दी में पर्यावरण अध्ययन नोट्स /Environment Full नोट्स

पर्यावरण के नोट्स हिंदी में, Environment Handwritten Notes in Hindi :- साथियो पर्यवरण की सुरक्षा की जितनी जिम्मेवारी सरकार की है उतनी  हमारी भी है की हम पर्यावरण की सुरक्षा पर ध्यान दे साफ़ सफाई का ध्यान दे। जिन जिन कारणों से हमारा पर्यावरण दूषित हो रहा है या फिर हमारी द्वारा किये गए किन किन कारणों से पर्यावरण दूषित हो रहा है पर्यावरण को नुकशान हो रहा है और उसका नतीजा या दुष्परिणाम हम सब भुगत रहे ही रहे है। Environment Handwritten Notes In hindi में और  Environment Notes In Hindi में दिए गए है। इसमें हमने आपसे पर्यवरण के बारे में जैसे की पर्यावरण के घटको तथा पर्यावरण किन किन से मिलकर बनता है और उनसे बारे कुछ और महत्वपूर्ण जानकारिया और महत्वपूर्ण ज्ञान साझा किया है।

Environment Handwritten Notes

 

Envairment Handwritten Notes In Hindi | पर्यावरण के शानदार नोट्स

एनवायरनमेंट इन हिंदी | Environment Notes 

Environment Handwritten Notes in Hindi 

दोस्तों जैसा की हम सब जानते है की आज पर्यावरण की सुरक्षा और क्या महत्व है ये हमें अच्छे से समझ में आ गया है और यह मुद्दा कितने बड़ा जरुरी सवाल बन गया है और ये सिर्फ सवाल ही नहीं अपितु एक ज्वलंत मुड्ढा बना हुआ है। और धीरे दिए आज अब आम लोगो में पर्यावण को लेकर जागरूकता दिख रही है। अगर हम पर्यावरण में मुद्दे में ग्रामीण समाज को छोड़ भी दे तो भी महानगरों के लोगो जीवन में पर्यावरण को लेकर कोई खाश उत्सुक्ता देखने को नहीं मिलती है। और इसका परिणाम ये सामने आ रहा है की पर्यावरण सुरक्षा का मुद्दा सिर्फ और सिर्फ सरकारी एजेंडा ही बना हुआ है यही तक सिमित है। परन्तु पर्यांवयन का मुद्दा हमारे पुरे समाज के लिए और हम लोगो के लिए एक बहुत ही खाश सम्बन्ध रखने वाला प्रश्न है। 

Environment Handwritten Notes UPSC

पर्यावण के प्रति हम आम लोगो में जब तक स्वभाविक लगाव उत्पन्न नहीं होता है तब तक मान के चलिए की हमारा जो पर्यावण संरक्षण का जो सपना है वो बस अपना ही बन कर रहेगा।पर्यावरण का संक्षिप्त ज्ञान ये हम सब को बहुत ही अच्छे से पता है की पर्यावरण का सीधी सीधा सम्बन्ध प्रकृति से होता है हमारे पर्यावण में हम भिन्न भिन्न प्रकार के जीव – जंतु , भिन्न भिन्न प्रकार की सजीव वस्तुए निर्जीव वस्तुए तथा वभिन्न प्रकार के पेड़ पौधे आदि ये सभी मिलकर हमारे पर्यावरण की रचना या निर्माण करते हैऔर जैसा हम जानते है की विज्ञान की भिन्न भिन्न शाखाओ जैसे की रसायन विज्ञान , जीव विज्ञानं , भौतिक विज्ञानं आदि में विज्ञान की शाखाओ में विज्ञान के विषय के मौलिक सिद्धांतो और उनसे सम्बंधित पप्रायोगिक विषयो का अध्यन्न किया जाता रहा है।

UPTET Best Environment Notes In Hindi

परन्तु आज एक जरुरी आवश्यकता यह भी है की पर्यावरण के विस्तृत अध्यन्न करने के साथ साथ इनसे सम्बंधित जुड़े हुए व्यवहारिक ज्ञान पर भी बल या ध्यांन दिया जाना आवश्यक है। आज के इस आधुनिक समाज में पर्यावरण से जुडी समस्याओ की शिक्षा व्यापक स्टार पर दी जाना अत्यंत जरुरी है। तथा इसी के साथ ही संकटो से निपटने के बचावकारी उपायों की जानकारी होना भी हम सभी के अत्यत आवश्यक है। ये बहुत जरुरी है क्यों की आज की मशीनी युग में भी हम अनेको संकटो जैसी स्थति से गुजर रहे है। सम्पूर्ण पर्यावरण को नष्ट या खत्म करने के लिए पर्यावरण प्रदुषण एक अभिशाप के रूप में हमारे सामने है जिसे हम नजर अंदाज नहीं कर सकते है।

Environment Short Notes

म सब जानते है की आज पूरी दुनिया एक बहुत ही गंभीर चुनौती के डोर से गुजर रही है। वैसे तो पर्यावरण से सम्बंधित अध्यन्न सामग्री की कुछ कमी है परन्तु फिर भी संदर्भ सामग्री की कोई है। अगर सही में देखा जाए तो आज के समय में पर्यावरण के बारे में उपलब्ध जानकारी और ज्ञान को व्यवहारिक ज्ञान बनाने की काफी अधिक आवश्यकता है। जिससे हम लोग इस समस्या को आसानी से समझ सके और आने वाली समस्याओ से बच सके। ऐसी भयंकर और विषम परिस्थियों में हमें समाज को हमरे कर्तव्य और हमें हमरे दायित्वों का एहसास हो सके और ये बहुत आवश्यक भी है। अगर ऐसा करे तो आवश्यक रूप से से ही हम और पूरा समाज को पर्यावरण सुरक्षा और महत्व के प्रति जागरूक किया जा सकता है।

Environment And Ecology Handwritten Notes In Hindi 

वास्तव में देखा जाए तो सजीव घटको तथा निर्जीव घटको ये दोनों ही मिलकर पूरी प्रकृति की रचना करते है। निर्जीव घटको में जैसे भूमि, जल, वायु , आदि आते है लेकिन पादप जगत और जंतु जगत ये दोनों ही मिलकर सजीवों की रचना या निर्माण होता है इस लिए ये सभी घातक महत्वपूर्ण है। और इस सभी संघटको के बिच में एक अत्यंत महत्वपूर्ण रिस्ता है और वो यह है की ये सभी अपने अपने जीवन चलाने या निर्वाह करने के लिए परस्पर एक दूसरे पर निर्भर रहते है।

रीट पर्यावरण नोट्स

वैसे अगर देखा जाए तो जीव जगत में मनुष्य एक ऐसा प्राणी है जो सबसे अधिक सचेतन है. क्योकि मनुष्य अपनी आवश्यकताओ और जीवन निर्वाह करने के लिए और उनकी पूर्ति करने के लिए पेड़ पोधो, जीव जन्तुओ, भूमि , जल आदि पर निर्भर रहता है। और ये सभी मौश्य के परिवेश में पाए जाने वाले वायु , जल ,भूमि, जीव जंतु तथा पेड़ पौधे यानी पादप हमारे पुरे पर्यावरण की संरचना या निर्माण करते है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.