fbpx

Environment Notes in Hindi | Environment Handwritten Notes  

0

Environment Study Notes in Hindi 

Environment Notes for UPSC in Hindi:- नमस्कार भाइयो हम भगवान से दुआ करते है की आप सब स्वस्थ होंगे आज हमने आपके लिए Environment Notes for UPSC 2021Environment Notes UPSC हिंदी में CTET पर्यावरण अध्ययन नोट्स में पर्यावरण के बारे इतनी जानकारिया दी हुई है की आपका नॉलेज काफी हद तक बढ़ सकता है और इसके लिए हमने आपको  Environment and Ecology Notes for UPSC in Hindi, Environment Notes for UPSC Notes, Environment Notes Class 7 के पर्यावरण से सम्बंधित सारे नोट्स वो भी टॉपिक के हिसाब से दिए हुए है और ये सभी टॉपिक वाइज नोट्स आपके सभी सरकारी नोकरियो में जैसे की – SSC, UPSC, Railway, Police इस प्रकार की और भी अनेको नोकरियो में आपके बहुत काम में आएगी देख लेना आप सब 

हिंदी में CTET पर्यावरण अध्ययन नोट्स || Environment Short Notes 

Reet Environment Notes in Hindi दोस्तों आज की हमारी इस पोस्ट ब्लॉग में हम आपको पोलुशन (प्रदुषण ) के बारे में कुछ जानकारी आप तक पहुंचाने की की कोसिस कर रहे है। इसके लिए हम आपके साथ आज Environment Study NotesEnvironment Pollution NotesEnvironment Handwritten Notes for UPSC की जानकारी को आप तक पहुंचने का माध्यम बन रहे है ताकि आप पर्यावरण के बारे में सही और सम्पूर्ण जानकारी हासिल कर सको और सायद हमारे पर्यावरण को शुद्ध करने में और पर्यावरण में होने वे कारण और दुष्प्रभावों को रोकने में मदद कर पाओ दोस्तों,आज  Environmental Studies in Hindi, Environment Notes for UPSC 2021Environment Day Quiz Questions With Answers, Environment Notes Class 10 और हमने कुछ Handwritten Notes आपके लिए बना कर तैयार किये गए है और आपके लिए इस पोस्ट में हमने लिखे है। 

Environment and Ecology UPSC || Environment Notes for UPSC

अब हम आपको सबसे पहले पर्यावरण प्रदुषण के प्रकार बता रहे मुख्य रूप से पर्यावरण प्रदूषण 5 प्रकार के होते है जो निम्न प्रकार से है साथियो आज हम आपसे सामने पर्यावरण में होने वाले प्रदुषण के बारे कुछ ज्ञान साझा करने जा रहे है की ये प्रदुषण क्यों हो रहा है और इस प्रदुषण के वजह से हमें क्या नुक्सान हो रहा है बाकि के जिव जन्तुओ को क्या और कितनी परेशानियों का सामना करना पद रहा है और पृथ्वी को क्या नुक्सान हो रहा है और ये प्रदुषण कितने प्रकार का होता है परन्तु आज हम उसमे से सिर्फ एक ही बिंदु या प्रदुषण के बारे में आपसे बात करेंगे आज के लिए बस इतना ही हो पायेगा तो आइये अब हम पर्यावरण प्रदुषण के बारे में बात करते है। 

  • सबसे पहले वायु प्रदूषण जो वायु या हवा के द्वारा होता है 
  • दूसरा प्रदुषण जल के द्वारा होता है 
  • तीसरा प्रकार भूमि प्रदुषण होता है 
  • चौथा प्रदुषण जिसके द्वारा होता है वो होता है ध्वनि प्रदूषण 
  • पांचवा और अंतिम पर्यावरण पर्दूषण होता है वो प्रकाश प्रदूषण से होता है 

 

 Reasoning Cube And Dice Question Answer In Hindi PDF Free Download

 

Environment Handwritten Notes PDF 

 

Maths Free PDF > Click Here To Download English Free PDF > Click Here To Download
GK Free PDF > Click Here To Download  Reasoning Free PDF > Click Here To Download
GS Free PDF > Click Here To Download  History Free PDF > Click Here To Download
Computer PDF  > Click Here To Download  Geography Free PDF > Click Here To Download

Reet Level 1 Environment Notes || रीट पर्यावरण नोट्स

दोस्तों अब हम पर्यावरण में आज सबसे पहले बिंदु सबसे पहले हम वायु के बारे में बात करते है।

हमारे पर्यावरण के वायु में अनेको गेंसे होती है धूल के कण होते है आदि के जयदा मात्रा में उपस्थित होने की वजह से मनुष्य और आने प्रकृति दोनों के लिए खतरनाक  साबित हो सकती है। और खतरे का कारण भी बन रही है या फिर हम इसको ऐसे समझ सकते है की प्रदुषण का सीधा सा मतलब है की वायु का दूषित या फिर गन्दा हो जाना। इसी को हम वायु प्रदूषण कहते है। पर्यावरण के वायु में बाहरी तत्वों का मौजूद होना जिसकी  वजह से मनुष्य तथा किसी जिव जन्तुओ के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो या फिर उनके कल्याण के लिए हानिकारक हो उसे हम वायु प्रदुषण कहते है। जब इस प्रकार की स्थति हो जाती है तो वह वायु प्रदुषण के श्रेणी में आता है।

 

 Reasoning Cube And Dice Question Answer In Hindi PDF Free Download

 

Top Environment Notes PDF 

इन्हे भी जरूर देखें – List Of Indian States And Capitals In Hindi || भारतीय राज्यों और राजधानियों की सम्पूर्ण सूची

 

Environment Important Topics for UPSC 2020

अब हम आपको वायु प्रदुषण के कारण के बताते है जिनकी वजह से वायु प्रदुषण होता है।

वैसे तो वायु प्रदुषण के कुछ सामान्य वजह होती है जैसी की –

  1. वाहनों से अत्यधित धुआँ निकलना – जैसा की आप जानते है आज कितना ज्यादा ट्रैफिक हो गया जितना जयदा ट्रेफिक उतना ही ज्यादा धुआँ ये भी एक बहुत बड़ी वजह है वायु प्रदुषण की।
  2. औद्योगिक फेक्ट्रियो से निकलना वाला धुआँ – आज जहा देखो वहा पर औद्योगिक क्षेत्रों में अनेको फैक्ट्रियां और कारखाने बने हुए और उनसे दिन रात धुआँ निकलता रहता है जो ससे बड़ा कारण है  वायु प्रदुषण का
  3. अनेको प्रकार के आणविक संयंत्र निकलने वाले अत्यधिक गेंसो का निकलना और धूल के कणो का निकलना – इसकी वजह से भी वायु प्रदुषण होता है
  4. जंगलो में जलाये जाने वाले पेड़ पोधो से तथा कोयले के जलने के कारण और इसके आलावा तेल के कारखानों इत्यादि से अतयधिक निकलने वाला धुँवा  एक बड़ी वजह है।
  5. ज्वालामुखी विस्फोट से भी हमारे पर्यावरण की वायु के बहुत ज्यादा वायु प्रदुषण होता है।

Environment Notes for UPSC in Hindi

अब आप वायु प्रदुषण से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जान लीजिये।

वायु प्रदुषण से पृथ्वी के वातावरण पर बहुत बुरा असर पड़ता है ओस इसके बहुत दुष्प्रभाव पड़ते है जिमे से कुछ प्रभाव इस प्रकार है।

  1. वायु में आवांछित जितनी भी गेंसे मौजूद है इस सब से मनुष्य पर और पशु पक्षियों को अनेको प्रकार की गंभीर और भयानक समस्याओ का सामना तथा गंभीर समस्याओ का भी सामना करना पड़ता है।  जिनमे कुछ बीमारिया निम्न प्रकार से है जैसे -दमा हो जाना , अंधेपन की समस्या , सर्दी और खांसी हो जाना , त्वचा से सम्बंधित बीमारिया इतियादी हो जाना शामिल है।
  2.  आप देखते होंगे की सर्दियों में कोहरा चाय रहता है जबकि इतनी सर्दी भी नहीं होती है ये भी वायु प्रदुषण का दुष्प्रभाव है इसकी वजह से आँखों में जलन से आदी समस्या हो जाती है
  3.  ओजोन परैत , हमारी पृथ्वी के चारो तरफ सुरक्षत्माक गेंसो की परते बानी हुई है जिसके कारण सूर्य से निकलने वाली अत्यधिक हानिकारक अल्ट्रावाइलेट किरणों से हमें बचने के सहायक होती है या बचती है वायु प्रदुषण होने की वजह से जनो में होने वाले अपरिवर्तन , अनुवांशिक  और हमारी स्किन यांनी त्वचा में कैंसर के क्खत्तरे बाहत  ज्यादा बढ़ जाते है और अभी ओजोन परत पर कटरा मंडरा रहा है प्रदूषण के कारण।
  4.  वायु प्रदुषण के अत्यधिक हो जाने के कारण पृथ्वी का तापमान बढ़ जाता है इसकी वजह  यह है की सूर्य से निकलने वाली और आने वाली गर्मी के कारण पर्यावरण में कार्बन डाई ओक्ससाइड का प्रभाव , मीथेन गैस का प्रभाव और नाइट्रस ओक्ससाइड का प्रभाव काम नहीं हो पता है जो हम सब के लिए बहुत ही जयदा हानिकारक है
  5.  जिन क्षेत्रों में वायु जयदा प्रदूषित होती है और जब उन क्षेत्रों में बारिश या वर्षा  होती है तो बारिश में अनेको प्रकार के गेंसे और अनेको प्रकार के विषैले पदार्थ धुलकर धरती पर आते है अपने अम्ल वर्षा का नाम सुना होगा इसकी को अम्ल वर्षा कहते है
मित्रो इसके आगे के चारो प्रदूषण के बारे में हम हमारे अगले पोस्ट में बात करेंगे। 

 

 

Study Material PDF for all Government Exams

 

MATHS / गणित
ENGLISH / अंग्रेजी
HINDI / हिंदी
GEOGRAPHY / भूगोल
Other Links
PLEASE LIKE AND FOLLOW OUR FACEBOOK PAGE FOR LATEST UPDATES

 

PLEASE JOIN OUR TELEGRAM CHANNEL

pdfgovtexam.com भारत का अग्रणी शैक्षणिक ऑनलाइन मच है यहाँ पर आप सरकारी और गैरसरकारी सभी प्रकार के एग्जाम की तैयारी कर सकते है जैसा MBA, CAT, Hotel Management, Bank PO, RBI, SBI PO, NABARD, BSRB Recruitment, SCRA, Railway Recruitment, LIC AAO, GICAAO, Asst. Grade,  UDC, LDC, SSC MTS, SSC CPO, SSC JE, HSSC,  Tax, Central Excise, CBI, CPO, B ED, MBBS, IAS, PCS, IFS, UPSC CDS, UPPSC, BPPSC, MPPSC, UPSSSC, WBPSC, AFCAT, BPSC, Defence exam, police, patwari, Clark, VDO और अन्य एग्जाम की पीडीऍफ़ भी डाउनलोड कर सकते है

Leave A Reply

Your email address will not be published.