fbpx

Rajasthan Police History Notes in Hindi For Competitive Exams

0

Rajasthan Police Constable Notes 2020

नमस्कार मेरे साथियो,

राजस्थान पुलिस 2021 :-आज आपके लिए राजस्थान पुलिस के लिए बेस्ट नोट्स 2021, Modern Indian History Notes लाये है जो आपके लिए बहुत खाश और रामबाण साबित हो सकती है। इस Rajasthan Police Constable की परीक्षा को पास करने में जिसमे हमने, Indian History Notes in HindiState Wise GK of India in Hindi, राजस्थान पुलिस सामान्य ज्ञान, राजस्थान पुलिस जीके 2021 और दूसरे विषय जैसे Computer Polity, आदि की Notes  भी हमारे दूसरे पोस्ट जो हमने किये हुए है। उनमे आसानी से मिल जायेंगे जो आपो सभी जरुरी विषय और उनके Notes एक ही जगह पर मिल जायेंगे। और अगर आप हमारी website pdfgovtexam.com र आकर अन्य पोस्ट को देखेंगे तो आपको हमने उनमे हमने आप साथियो के लिए इसमें Handwrtten Notes Questions and Answers और भी अन्य पाठय सामग्री संलग्न कर दिए है।

Indian History Handwritten Notes in Hindi|| राजस्थान पुलिस सामान्य ज्ञान

Indian History Handwritten Notes in Hindi :- राजस्थान पुलिस में पूछे जाने वाले प्रश्न, राजस्थान पुलिस ऑनलाइन जीके टेस्ट हमारे Social Media प्लेटफार्म पर Quizes करवाए जाते है। जो आपके इस Rajasthan Police Constable 2021 की भर्ती तथा अन्य भर्तीयो में बहुत महत्वपूर्ण हो सकते है। राजस्थान पुलिस के नोट्स, Rajasthan SI History Handwritten Notes ये सभी इस परीक्षा की तैयारी के लिए और अन्य परीक्षाओ जैसे – RRB, BANK, SSC, RAILWAYS, UPSC, IAS, RPSC, POLICE, SSC, CGLNTPC आदि की तैयार और उसमे सफलता हासिल करके अपने मंजिल तक पहुंचने में आपकी बहुत मदद कर सकते है एक बात और जो आपको बताना चाहते है की हमारे ऑनलाइन मंच पर अन्य सभी विषयो Current Affairs, History, General Science, General StudiesPolity,Geography etc. की अध्यन्न सामग्री भी आप लोगो के लिए उपलब्ध करवा दिए गए है जिससे आप Govrnment Exam की Preparation अच्छे से कर सकते है 

History Notes in Hindi for all Competitive Exams 

Indian History की सम्पूर्ण जानकारी

मध्य पाषाण काल (Mesolithic Era) का संक्षिप्त विवरण 

लगभग 12000 वर्ष से लेके 10000 वर्ष पूर्व तक मध्य पाषाण काल का समय माना जाता है मध्यपाषाण काल को लघु पाषाण काल या माइक्रोलिथ (Microlith)  युग भी कहा जाता है। तथा मध्यपाषाण काल (Mesolithic Era) में ही अग्नि (Fire) का आविष्कार हुआ था। 

मानव जीवन के बारे में (पाषाण युग और उसके बाद ) संक्षेप में जानकारी 

1. पूरापाषाण काल

2. मध्यपाषाण काल

3. नवपाषाण काल

Rajasthan Police History Notes in Hindi

1. पूरापाषाण काल – 

  • पूरापाषाण काल में हाथ से बने हुए हथियार या प्राकृतिक वस्तुओ से बने हुए औजारों जैसे की – तीर , धनुष , भाला , चाकू , कुल्हाड़ी आदि  का प्रयोग किया जाता था।
  • इनके अर्थववस्था शिकार एवं खाद्य संग्रह पर निर्भर हुआ करती थी।  अगर हम इनके रहने के स्थान के बारे में बात करे तो इनकी अस्थाई जीवन शैली  जैसे की – इनकी गुफाये,  अस्थाई झोपड़ीयां, ये सभी मुख्य रूप से नदी के किनारे या फिर झीलों के किनारे हुआ करती थी।
  •  समाज की बात की जाये तो ज़्यदातर २५-१०० लोगों का समूह हुआ करता था।  और इनमे  अधिकांशतः सारे सदस्य एक ही परिवार के सदस्य हुआ है करते थे।
  • धर्म की बात की जाये तो  लागबहग मध्य पुरापाषाण काल के आसपास में मृत्यु होने के बाद में जीवन में विश्वास के प्रमाण  हमें कब्रऔर अन्तिम संस्कार के रूप में मिलते है।

2. मध्यपाषाण काल –

  • इस काल में हाथ से बने हुए हथियार या प्राकृतिक वस्तुओ से बने हुए औजारों जैसे की – तीर , धनुष , मछली का शिकार करने और भंडारण के औजार, नाव  आदि  का प्रयोग किया जाता था।
  • इनके अर्थववस्था भी शिकार एवं खाद्य संग्रह पर निर्भर हुआ करती थी। अगर हम इनके रहने के स्थान के बारे में बात करे तो इनकी अस्थाई जीवन शैली  जैसे की – इनकी गुफाये,  अस्थाई झोपड़ीयां, ये सभी मुख्य रूप से नदी के किनारे या फिर झीलों के किनारे हुआ करती थी।
  • समाज की बात की जाये तो ज़्यदातर कबिले और परिवार समूह के रूप में रहा करते थे।
  • इनके धर्म की बात की जाये तो  लागबहग मध्य पुरापाषाण काल के आसपास में मृत्यु होने के बाद में जीवन में विश्वास के प्रमाण हमें कब्र और अन्तिम संस्कार के रूप में मिलते है।

3. नवपाषाण काल –

  • स काल में हाथ से बने हुए हथियार या प्राकृतिक वस्तुओ से बने हुए औजारों जैसे की – खेती करने के लिए उपयोग में लिए जाने वाले औजार, मिटटी के बर्तन बनाने के काम में आने वाले औजार और लकड़ी और पत्थर छलने के काम में आने वाली (चिसल ) आदि  का प्रयोग किया जाता था।
  • अर्थववस्था भी शिकार एवं खाद्य संग्रह, खेती पर, मछली का शिकार करने पर तथा पशुपालन करने आदि पर निर्भर हुआ करती थी।
  • अगर हम इनके रहने के स्थान के बारे में बात करे तो इनकी अस्थाई जीवन शैली  जैसे की – इनके खेतो के आस पास में छोटी छोटी बस्तिया लेकर के काँस्य युग के नगरों तक इनके रहने का स्थान हुआ करता था।
  • इनके समाज की बात की जाये तो ज़्यदातर कबिले से लेकर राज्यों तक हुआ करते थे।
  • धर्म की बात की जाये तो लगभग मध्य पुरापाषाण काल के आसपास में मृत्यु होने के बाद में जीवन में विश्वास के प्रमाण  हमें कब्रऔर अन्तिम संस्कार के रूप में मिलते है। 

4. काँस्य युग –

  • इस काल में तांबे और काँस्य के बने औजार, मिट्टी के बरतन बनाने के प्रयोग में आने वाला चाक आदि का प्रयोग किया जाता था।
  • इनके अर्थववस्था की बात की जाये तो खेती पर, पशुपालनकरने पर, हस्तकला पर और व्यपार करने आदि पर निर्भर हुआ करती थी।

5.लौह युग

  • इस काल में लोहे के औजार का प्रयोग किया जाता था।
History Handwritten Notes in Hindi for Rajasthan Police
Disclaimer
  • Hello friends, we would like to tell you that if you have any objection to any content written by us or else or you have any suggestions. So you can contact us anytime. To contact us, you can inform us by mailing contact@pdfgovtexam.com, we will try to solve your problems as soon as possible. Thank you

TAG – Indian History Handwritten Notes in Hindi for UPSC, Modern History Handwritten Notes in Hindi, History notes, History Questions and Answers 

Leave A Reply

Your email address will not be published.